शैतान चूचू खो गया | Story In Hindi And English With Picture



शैतान चूचू खो गया | Story In Hindi And English With Picture


चूचू एक नन्हा सा शरारती बच्चा था उसे इधर उधर घूमना बहुत पसंद था एक ऐसी आदत जिससे उसकी माँ बहुत परेशान रहती थी। चूचू मै चाहती हूँ तुम यूँ अकेले ना घूमा करो ऐसे तो तुम खो सकते हो। मै चाहती हूँ की तुम मेरे पास रहो। ठीक है? ओह माँ आप बहुत फिक्र करती हो!


चूचू की माँ बस उसे सुरक्षित रखना चाहती थी पर, चूचू तो हर बार भूल जाता था की माँ ने क्या कहा था और बस अपने आप ही घूमता रहता था। चूचू चलो यहां वापस आओ एक दिन, मिस डोरोथी, चूचू की टीचर ने, सभी बच्चों को होमवर्क दिया बच्चों, तुम्हारा असाइनमेंट जब आज तुम घर जाओगे तो ये होगा की तुम अपने पेरेंट्स के फ़ोन नंबर्स याद करोगे।

इस तरह से अगर तुम कभी खो जाते हो, तो तुम उन्हें कॉल कर सकोगे और बता सकोगे कि तुम कहां हो। सभी बच्चे घर गए और अपने पेरेंट्स के फ़ोन नंबर्स याद कर लिए 4 1 5 3।।।! हालांकि चूचू ने, अपने पेरेंट्स के फ़ोन नंबर याद करने का सोचा भी नहीं उसकी बजाय वो अपनी नयी टॉय कार से खेलता रहा।

कुछ दिनों के बाद, चूचू और चूचू पार्क में खेल रहे थे जैसे ही वो वापस रहे थे, चूचू ने एक गुब्बारे को देखा जो उड़ रहा था और वो एकदम से उसके पीछे भागने लगा ओह, देखो! एक गुब्बारा! मै इसे पकड़ लूँगा वापस जाओ, चूचू! पर चूचू ने चूचू की एक भी सुनी वो गुब्बारे के पीछे भागता गया और ये भी नहीं देखा की वो आखिर जा कहाँ रहा है।

मै इस गुब्बारे को पकड़ लूँगा! थोड़ी देर बाद, उसने ये महसूस किया की वह गुम हो गया है मै कहाँ हूँ? ये जगह तो बिलकुल अलग है मुझे नहीं लगता मै पहले कभी यहाँ आया हूँ चूचू डर गया था वो एक पेड़ के नीचे बैठा और रोने लगा काश मै अपनी माँ को फ़ोन कर पता पर मुझे तो उनका नंबर पता ही नहीं है चूचू ने इधर उधर देखा पर उसे चूचू कहीं नहीं मिला।

कुश किस्मती से वो अपनी आंटी के घर के बहुत नज़दीक थी और वो वहाँ से अपनी माँ को फ़ोन कर पायी हेलो? माँ? चूचू बोल रही हूँ चूचू की बातें सुनकर चूचू की माँ चूचू को ढूंढ़ने के लिए जल्दी से निकल पड़ी, रास्ते में चूची भी गाड़ी में बैठी और उसने बताया की आखिरी बार चूचू को कहाँ देखा था।

चूचू उस सड़क की तरह गया था तो चलो वहीँ चलकर देखते हैं। उनकी गाडी धीरे धीरे हॉर्न बजाती हुई चल रही थी चूचू ने अपनी गाडी के आवाज़ पहचान ली ये आवाज़ तो हमारी गाड़ी की है! माँ यहीं कहीं आस पास होंगी। चूचू खड़ा हो गया और आवाज़ लगाने लगा माँ! चूचू! मै यहाँ हूँ चूचू कुश किस्मत था, की उसकी माँ और चूचू ने उसे जल्दी ही ढून्ढ लिया।

माँ वो देखो! वो रहा! ओह! शुक्रिया का मिल गया अपनी माँ और चूचू को देखकर चूचू बहुत खुश हो गया उसने उन दोनों को बहुत ज़ोर से गले लगाया मै आप दोनों को देखकर बहुत खुश हूँ मै सच में बहुत डर गया था हमें भी तुम्हे देखकर बहुत अच्छा लगा।

चूचू ने वादा किया की अब वो कहीं भी अकेला नहीं जाएगा उसने अपनी माँ का फ़ोन नंबर भी याद कर लिया ताकि अगर कभी भी वो खो जाये तो उन्हें कॉल कर सके 4 1 5 3।।।! एक शान्त से शहर Scottsdale में एक लड़का रहता था।

जिसका नाम था चूचू चूचू कि एक दिक्कत थी, वो कुछ ज्यादा ही टीवी देखता था उसे इसकी लत लग गई थी। और इस बात से उसकी मम्मी काफी परेशान थी। चूचू तुम कुछ ज्यादा ही टीवी देखते रहते हो। खड़े हो जाओ और थोड़ी सी एक्स्रसाईज करो।

देखो ये अच्छी बात नहीं है बेटा मॉम देखने दीजिए मुझे मुझे नहीं लगता कि तुम्हे मेरी बात समझ भी आयी है। ठीक कहा न। टीवी को अभी बंद करो। मै फिर से नहीं बोलने वाली तुम्हे। पर पर इस टीवी को अभी बंद करो। तुम कोई सजा तो नहीं चाहते ओह ठीक है।

मुझे डांटना बंद कीजिए। लीजिए बंद कर दिया। खूश हैं बढियां! बेटा हर चीज़ का समय होता है। और हर चीज़ कि लिमीट भी अब अपने जूते पहनो और बाहर खेलने जाओ। ठीक है चूचू ने अपनी वीडियो गेम ली और अपनी जेब मे डाल ली और फिर अपने जूते पहन कर बाहर चला गया।

मै खेलने जा रहा हुं जल्दी वापस आओंगा आराम से जाना बेटा जब चूचू के पापा काम से वापस रहे थे। उन्होने चूचू को एक पेड के निचे बैठ कर वीडियो गेम खेलते देखा। सुनो मै घर गया हुं आपका दिन कैसा रहा? बहुत अच्छा रहा। पता है आज मैने रास्ते मे चूचू को देखा।

हां मैने ही आज उसे बाहर भेजा है ताकी वो कुछ एक्सरसाइज कर सके पर वो तो ऐसा नहीं कर रहा था। मैने तो उसे एक पेड़ के निचे बैठ कर वीडियो गेम खेलते हुए देखा। अरे नहीं! मुझे अब अपने बच्चे कि काफी चिन्ता होने लगी है।

मुझे भी मैने कोशिश की कि वो मेरे साथ बॉल खेले मैने कोशिश की कि वो साईकल चलाये लेकिन लगता है कि एैसी कोई चीज़ है ही नहीं जो उसे टीवी और वीडियो गेम से दूर कर सके जब मम्मी पापा बात कर रहे थे तो उन्हे पास मे से ही चिल्लाने कि आवाज आयी।

चूचू कि मम्मी ने खिड़की से झांक कर देखा। और देखा कि कुछ खेल रहे थे और मस्ती कर रहे थे। उन्होने देखा कि चूचू बाहर खड़े होकर उन्हे खेलते हुए देख रहा है तुम क्या देख रही हो। लगता है हमारे पड़ोस मे 4 नये बच्चे आए हैं देखो वो उन्हे कैसे खेलते देख रहा है। हो सकता है इस तरीके से ये उनका दोस्त बन जाये और बाहर खेले। चलो देखते हैं कि क्या होता है।

चूचू वहां खड़ा बच्चों को बास्केट बॉल और सॉकर खेलते हुए देख रहा था। बच्चों को काफी मजा रहा था। चूचू भी उनके साथ खेलना चाहता था। लेकिन चूचू ने ये गेमस पहले कभी नहीं खेली थी, तो उसे पता नहीं था कैसे खेलते हैं।

हर रोज चूचू खड़ा होकर बच्चों को खेलते हुए देखता फिर एक दिन उन बच्चों ने देखा कि चूचू उन्हे खेलते हुए देख रहा वो चूचू के पास आयें और अपने बारे मे बताया। और फिर चूचू ने भी अपने बारे मे बताया। तुमसे मिलकर अच्छा लगा चूचू क्या हमारे साथ खेलोगे ?

हां लेकिन मुझे तो ये गेमस नहीं आती मैने ये कभी नहीं खेलीं कोई बात नहीं हमारे साथ आओ हम आपको सिखायेंगे कैसे खेलते हैं। ठीक है चूचू भी बच्चों के साथ खेलने लग गया। और उसने गेमस सिख लीं। वाह ये तो बहुत ही मजेदार है मैने कभी नहीं सोचा था कि गेमस मे इतना मजा आता है मुझे इतना मजा कभी भी नहीं आया।

मै बहुत ही ज्यादा खूश हुं धन्यवाद दोस्तों। कोई बात नहीं वैसे हमें भी चूचू के साथ खेलने मे बहुत मजा आया उस दिन से। चूचू कि टीवी और वीडियो गेम कि लत खत्म हो गई। और वो हर रोज अपने दोस्तो के साथ बाहर खेलने जाने लगा।